Latest Headlines

करीब 2 करोड़ किसानों का पेमेंट राज्य सरकारों ने रोका, फौरन चेक करें लिस्ट, कहीं इसमें आपका नाम तो नहीं


पीएम किसान की 2000 रुपये की अगली यानी अगस्त-नवंबर की किस्त बहुत जल्द किसानों के खातों में आने वाली है। इस अच्छी खबर के साथ ही एक बुरी खबर ये है कि करीब 2 करोड़ किसानों का पेमेंट राज्य सरकारों द्वारा रोक दिया गया है। पीएम किसान योजना के तहत 13 जुलाई 2021 तक केंद्र सरकार के पास 12.30 करोड़ लोगों के डेटा रीसीव किए जा चुके हैं, जबकि 2.77 करोड़ किसानों के आवेदन में त्रुटियां हैं, जिन्हें ठीक किया जाना है। वहीं, करीब 27.50 लाख किसानों का ट्रांजैक्शन फेल हो चुका है तो 31.63 लाख लोगों का आवेदन पहले ही लेवल पर रद्द किया जा चुका है।  पीएम किसान पोर्टल के ताजा आंकड़ों के मुताबकि उत्तर प्रदेश के 2.84 करोड़ किसानों के डेटा में करेक्शन होने बाकी हैं। वहीं ऐसे किसानों की संख्या कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, असम और झारखंड में अधिक है।  

क्यों रुकती है किस्त

बता दें पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ अपात्र किसान भी इसका लाभ उठा रहे हैं। इसकी शिकायतें कई राज्यों को मिली हैं और ऐसे किसानों पर सरकारों ने शिकंजा कसना भी  शुरू कर दिया है। गलत तरीके से पैसा लेने वाले तमिलनाडु, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात और हिमाचल प्रदेश के आयकारदाता किसानों से सबसे ज्यादा पैसे की वसूली की गई है। बहुत से ऐसे किसानों के नाम हटा दिए गए हैं। 

डेटा में करेक्शन की क्यों है जरूरत

प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना अंतर्गत कृषि विभाग द्वारा केंद्र सरकार को भेजे गए कुछ सत्यापित आवेदनों में PFMS द्वारा फंड ट्रांसफर के समय कई तरह की गलतियां पायी गईं, जिससे किस्त की रकम ट्रांसफर नहीं हो पा रही। इस वजह से आवेदन में हुई गलतियों को सुधार के लिए वापस भेज दी जा रही हैं।

जानें किस टाइप की होती हैं गलतियां 

किसान का नाम ENGLISH में होना जरूरी है  वहीं, जिन किसानों का नाम आवेदन में हिंदी में है उन्हें संशोधन जरूरी है। वहीं आवेदन में आवेदक का नाम और बैंक अकाउंट में आवेदक का नाम अलग-अलग होने से भी पेमेंट लटक जाता है। इसके अलावा IFSC कोड, बैंक अकाउंट नंबर और गांव के नाम लिखने में अगर गलती हुई है तो आपकी किस्त आपके खाते में नहीं आएगी।

कहां ठीक होंगी गलतियां

डेटा में करेक्शन के लिए किसान को अपने बैंक शाखा जा कर बैंक में अपना नाम आधार और आवेदन में दिये गए नाम के अनुरूप करना होगा। इन त्रुटियों में सुधार के लिए आधार सत्यापन जरूरी है। आधार सत्यापन के लिए किसान अपने निकटतम CSC/वसुधा केंद्र/ सहज केंद्र से संपर्क करें।

अगली किस्त मिलेगी या नहीं, ऐसे चेक करें लिस्ट

स्टेप-1: वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं। 

स्टेप-2: होम पेज पर मेन्यू बार देखें और यहां ‘फार्मर कार्नर’ पर जाएं। 

स्टेप-3:यहां ‘लाभार्थी सूची’ के लिंक पर क्लिक करें।

स्टेप-4:इसके बाद अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव विवरण दर्ज करें

स्टेप-5:इतना भरने के बाद Get Report पर क्लिक करें और पाएं पूरी लिस्ट



Related posts

शाम 4 बजे से शुरू होगा 18+ उम्र के लोगों का रजिस्ट्रेशन; प्राइवेट और राज्य सरकार के सेंटर्स की उपलब्धता पर मिलेगा अपॉइंटमेंट

admin

 मैक्रोटेक डेवलपर्स की बुकिंग बिक्री 88 प्रतिशत बढ़ी

admin

अश्विनी अय्यर पहली अगस्त को अपनी नॉवेल ‘मैपिंग लव’ लॉन्च! करेंगी

admin