Latest Headlines

बैंकिंग और ऑटो शेयरों में तेज गिरावट


हफ्ते के दूसरे कारोबारी दिन शेयर बाजारों की शुरुआत फ्लैट रही। बेंचमार्क स्टॉक इंडेक्स में फिलहाल मामूली कमजोरी है- सेंसेक्स 52,600 से नीचे आ गया है, जबकि निफ्टी 15,750 के पास ट्रेड कर रहा है।​​​​​​ निफ्टी का मिड कैप इंडेक्स में मामूली कमजोरी जबकि स्मॉल कैप इंडेक्स में मामूली मजबूती है।

FMCG और रियल्टी शेयर बाजार को सपोर्ट देने की कोशिश कर रहे हैं। इनमें लगभग आधा पर्सेंट की मजबूती है। बैंकिंग और मेटल शेयरों के इंडेक्स में आधा पर्सेंट से ज्यादा की गिरावट है। सेंसेक्स के टॉप पांच गेनर में पावर ग्रिड, टाइटन, TCS, L&T और एशियन पेंट्स शामिल हैं। M&M, ICICI बैंक, बजाज ऑटो, कोटक बैंक और HDFC के बैंक शेयरों में जमकर बिकवाली हो रही है।

आज बीएसई के 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 60 पॉइंट की मजबूती के साथ खुला। लेकिन, एनएसई के 50 शेयरों वाले निफ्टी ने 7 पॉइंट की मामूली गिरावट के साथ शुरुआत की। एशिया के अहम शेयर बाजारों में एक पर्सेंट तक की तेज गिरावट है। अमेरिकी बाजारों में मिला जुला रुझान रहा था।

सोमवार को घरेलू बाजार के दोनों अहम शेयर इंडेक्स रिकॉर्ड हाई लेवल पर खुले थे। सेंसेक्स में 189 पॉइंट यानी 0.36% की गिरावट आई थी। सेंसेक्स 52,735 पॉइंट पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 0.29% यानी 45 पॉइंट की कमजोरी के साथ 15,814 पॉइंट पर रहा था।

कारोबार के दौरान वोलैटिलिटी इंडेक्स इंडिया VIX में लगभग तीन पर्सेंट की गिरावट है। यह गिरावट बताती है कि अगले 30 दिनों में निफ्टी सालाना आधार पर कितना मजबूत हो सकता है। इस इंडेक्स में आई गिरावट के मुताबिक बाजार में तेजी फिलहाल जारी रह सकती है। इसमें निचले स्तरों से बढ़ोतरी होना, बाजार में मजबूती कायम रहने के साथ हलचल बढ़ने का संकेत होता है।

एशियाई बाजारों में कमजोरी

एशिया के अहम शेयर बाजार कमजोर चल रहे हैं। जापान के निक्केई इंडेक्स में लगभग 1% की गिरावट आई है। हांगकांग का हैंगसेंग लगभग 0.75% नीचे है। चीन के शंघाई कंपोजिट में लगभग 1% की गिरावट है। कोरिया के कोस्पी में लगभग 0.40% की कमजोरी है। ऑस्ट्रेलिया का ऑल ऑर्डिनरी लगभग 0.50% नीचे चल रहा है।

अमेरिकी बाजारों में मिला-जुला रुझान

सोमवार को अमेरिकी बाजारों में मिला-जुला रुझान रहा। डाओ जोंस 0.44% की गिरावट के साथ बंद हुआ। हालांकि, नैस्डैक में 0.98% का तेज उछाल आया। S&P 500 में भी 0.23% की मजबूती रही। यूरोपीय बाजारों में गिरावट का दौर चला। ब्रिटेन के FTSE में 0.88%, जर्मनी के DAX में 0.34% और CAC में 0.98% की कमजोरी रही थी।

FII और DII डेटा

NSE पर मौजूद प्रोविजनल डेटा के मुताबिक, शुक्रवार 28 जून को विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) ने शुद्ध रूप से 1,658 करोड़ रुपए के शेयर बेचे थे। यानी उन्होंने जितने रुपए के शेयर खरीदे थे, उससे इतने ज्यादा रुपए के शेयरों की बिक्री की थी। घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) ने शुद्ध रूप से 1,277 करोड़ रुपए के शेयरों की खरीदारी की थी।



Related posts

अक्षय कुमार ओह माय गॉड के सीक्वल 2 में फिर नजर आएंगे 

admin

जानें कब से कब तक है इस साल श्रावण का महीना

admin

सोना 9000 रुपये से ज्यादा हुआ सस्ता तो बढ़ गई डिमांड, 6.91 अरब डॉलर का हुआ आयात

admin