Latest Headlines

राष्ट्रपति जिनपिंग ने कहा- वह दौर गया जब चीन को कोई भी धमकाकर चला जाता था,


चीन की कम्युनिस्ट पार्टी को 100 साल पूरो हो चुके हैं। वहां की सरकार इसका सेलिब्रेशन कर रही है। ऐसा ही एक समारोह गुरुवार को हुआ। इसमें राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भाषण दिया। उन्होंने धौंस दिखाते हुए कहा कि मैं शपथ लेता हूं कि चीन की मिलिट्री की ताकत को और बढ़ाया जाएगा। हमारी मिलिट्री को हम वर्ल्ड क्लास बनाएंगे। उन्होंने कहा कि वो दौर अब हमेशा के लिए जा चुका है, जब कोई भी देश चीन को धमकाकर चला जाता था।

चीनी राष्ट्रपति ने फेमस तियानमेन स्क्वेअर में लगे माओ जेदांग के चित्र के सामने खड़े होकर भाषण दिया। जिनपिंग ने चीन का सम्मान और वहां लोगों की आय बढ़ाने का श्रेय भी कम्युनिस्ट पार्टी को दिया। समारोह में शामिल हुए शी जिनपिंग माओ स्टाइल की जैकेट पहने थे। जिनपिंग ने कार्यक्रम में शपथ ली कि चीन वर्ल्ड क्लास मिलिट्री बनाने की अपनी रणनीति को आगे बढ़ाता रहेगा। कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना 1921 में डुग्झियू और लि डेझाओ ने की थी। पार्टी के मुताबिक पूरे चीन में उनके 95 मिलियन (9.5 करोड़) कार्यकर्ता हैं।


चीन में कुल कितने राजनीतिक दल हैं?

बाहरी दुनिया को लगता है कि चीन में सिर्फ एक ही राजनीतिक दल यानी ‘कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना’ या चाइना कम्युनिस्ट पार्टी (CCP) है, लेकिन ऐसा नहीं है। यहां कम्युनिस्ट पार्टी के अलावा 8 और सियासी पार्टियां हैं। हां, ये बात अलग है कि इनका वजूद होते हुए भी न के बराबर है। ये भी रोचक है कि CCP के अलावा सभी पार्टियां लोकतांत्रिक हैं, लेकिन इनकी आवाज ‘नक्कारखाने में तूती’ की तरह दब जाती है।

चीन का संविधान कहता है- बाकी दलों को भी सरकार में भागीदारी का हक है, पर हकीकत कुछ और है। और वो ये कि 8 दल सिर्फ प्रस्ताव पेश कर सकते हैं। इनको मानना या न मानना CCP की मर्जी पर निर्भर करता है। ताइवान डेमोक्रेटिक सेल्फ गवर्नमेंट पार्टी सबसे छोटी है। उसके सिर्फ 3 हजार सदस्य हैं।


कम्युनिस्ट पार्टी के बारे में हम क्या नहीं जानते?

1921 में जब यह पार्टी बनी तो किसी ने नहीं सोचा था कि एक वक्त इसका कोई विकल्प ही नहीं होगा। सिर्फ 50 लोगों ने इसकी स्थापना की थी।

फाउंडर थे चेन डुग्झियू और लि डेझाओ। मजे की बात यह है कि चेन और डेझाओ दोनों ही जापान से मार्क्सवाद का किताबी ज्ञान लेकर आए थे।

1949 में सिविल वॉर के बाद जब ‘पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना’ की स्थापना हुई तो उस वक्त CCP में 2.2 करोड़ लोग मेंबर बन चुके थे।

CCP में इस वक्त 3 विंग हैं। इन्हें क्लास भी कहा जाता है। ये हैं- फार्मर्स, वर्कर्स और सोल्जर्स। इसी आधार पर पार्टी मेंबर भी बनाए जाते हैं।

2011 के एक सर्वे में सामने आया था कि 15 राज्यों की 140 यूनिवर्सिटीज के 80% स्टूडेंट भविष्य में इसी CCP का हिस्सा बनना चाहते थे।

पार्टी का सदस्य बनना भी आसान नहीं है। इसके लिए 20 स्टेप्स का एक प्रोसेस पूरा करना होता है। इसमें 2 से 3 साल तक लग जाते हैं।

 



Related posts

Uttar Pradesh Ki Taja Khabar Mukhya Samachar Up Daily News CM Yogi Clean News Up – indianewsportal.com

admin

Samachar Live @ 11.00 AM |26-07-2019

admin

कैसा रहेगा आपका आज का दिन (24 अप्रैल 2021) – indianewsportal.com

admin