Latest Headlines

BSE का मेन स्टॉक इंडेक्स 13 पॉइंट गिरकर 52,373 पर बंद हुआ, निफ्टी में रही 2.80 पॉइंट की मजबूती


हफ्ते के पहले दिन घरेलू शेयर बाजार में भारी उथल-पुथल रही। बीएसई सेंसेक्स 13.50 पॉइंट (0.03%) की मामूली गिरावट के साथ 52,372.69 पर बंद हुआ। एनएसई निफ्टी 2.80 पॉइंट यानी 0.02% की बढ़त के साथ 15,692.60 पर रहा। सेंसेक्स में आज लगभग 500 का उतार-चढ़ाव हुआ। निफ्टी भी आज लगभग 150 पॉइंट ऊपर नीचे हुआ।

निफ्टी आज शुक्रवार के ऊपरी स्तर 15,730 से ऊपर खुला लेकिन 15,789 को पार करने में नाकाम रहा। दोपहर से पहले के कारोबारी सत्र में निफ्टी सीमित दायरे में रहा लेकिन फिर तेज गिरावट के साथ 15,644 पर आ गया। मोतीलाल ओसवाल के (हेड-टेक्निकल & डेरिवेटिव्स रीसर्च) चंदन तापड़िया के मुताबिक, बाजार ने पिछले तीन से बन रहे लोअर हाई पैटर्न को नकार दिया और मंदी के रुझान वाला पैटर्न बना दिया।

अब अगर यह 15,750 को पार करके उससे ऊपर बना रहता है तो 15,850 की तरफ बढ़ता नजर आएगा। इस लेवल को पार करने के बाद वह 15,915 की तरफ बढ़ता नजर आएगा। बिकवाली होने पर इसको पहले 15,600 और फिर 15,500 पर खरीदारी का सपोर्ट मिलेगा। वायदा बाजार के सौदे निफ्टी के 15,500 से 15,900 के दायरे में रहने का संकेत दे रहे हैं।

बाजार को मजबूत शुरुआत दिलाने वाला अहम फैक्टर चीन के सेंट्रल बैंक पीपल्स बैंक ऑफ चाइना के रिक्वायर्ड रिजर्व रेशियो में की गई 0.5% की कमी रही। इससे दुनियाभर के शेयर बाजारों में निवेश को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। TCS के उम्मीद से कमजोर परफॉर्मेंस के बाद एनालिस्ट IT शेयरों के परफॉर्मेंस को लेकर सावधानी बरत रहे हैं।

सोमवार को विदेशी बाजारों में मजबूत रुझानों के बीच बढ़त के साथ खुले थे। सेंसेक्स ने 148 पॉइंट की ठोस शुरुआत दी थी। निफ्टी 77 पॉइंट की मजबूती के साथ खुला था। निफ्टी के सभी सेक्टर इंडेक्स हरे निशान में थे। शुक्रवार को अमेरिकी और यूरोपीय बाजारों में तेज उछाल आया था। इसको देखते हुए एशियाई बाजारों ने भी आज मजबूत शुरुआत दी थी।

आज दिग्गज शेयरों की पिटाई के बीच निवेशकों ने छोटे और मझोले शेयरों में काफी दिलचस्पी ली। निफ्टी का मिड इंडेक्स 0.44% जबकि स्मॉल कैप इंडेक्स 0.60% की मजबूती के साथ बंद हुआ। सेक्टर इंडेक्स में सबसे ज्यादा 3.61% का उछाल रियल्टी में आया। निफ्टी का IT इंडेक्स 0.45% जबकि मेटल इंडेक्स 0.21% की मजबूती के साथ बंद हुआ।

घरेलू शेयर बाजार को संभालने की कोशिश करने वाले दिग्गज शेयरों में ICICI बैंक, RIL, कोटक बैंक, ग्रासिम और अल्ट्राटेक सीमेंट शामिल रहे। इस पर HDFC बैंक, HDFC, इन्फोसिस, भारती एयरटेल और TCS में बिकवाली की वजह से दबाव बना।

इंडिया VIX में मजबूती

वोलैटिलिटी इंडेक्स इंडिया VIX में 0.39% की मजबूती के साथ बंद हुआ। इस इंडेक्स में मजबूती बताती है कि अगले 30 दिनों में निफ्टी सालाना आधार पर कितना गिर सकता है। इंडिया VIX में निचले स्तरों से बढ़ोतरी होना, बाजार में मजबूती कायम रहने के साथ हलचल बढ़ने का संकेत होता है।

एशियाई बाजार मजबूती के साथ बंद हुए। जापान का निक्केई 2.2% पर बंद हुआ। चीन के शंघाई कंपोजिट में 0.67% की मजबूती आई। हांगकांग के हैंगसेंग में 0.65% की तेजी रही। कोरिया का कोस्पी 0.89% चढ़कर बंद हुआ। ऑस्ट्रेलिया के ऑल ऑर्डनरी में 0.79% की मजबूती रही।

यूरोपीय शेयर बाजारों में कमजोरी

फ्रांस के CAC में लगभग 0.40% की कमजोरी है। जर्मनी के DAX इंडेक्स में 0.20% की गिरावट है। ब्रिटेन के FTSE इंडेक्स में 0.60% की तेजी आई।

शुक्रवार को अमेरिकी बाजारों में तेज उछाल आया था। डाऊ जोंस 1.30% चढ़कर बंद हुआ था। नैस्डैक में 0.98% की तेजी आई थी। S&P 500 भी 1.13% पॉइंट की मजबूती के साथ बंद हुआ था।

FII और DII डेटा

NSE पर मौजूद प्रोविजनल डेटा के मुताबिक, शुक्रवार 9 जुलाई को विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) ने शुद्ध रूप से 1,124 करोड़ रुपए के शेयर बेचे थे। यानी उन्होंने जितने रुपए के शेयर खरीदे थे, उससे इतने ज्यादा रुपए के शेयर बेच दिए थे। घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) ने शुद्ध रूप से 106 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे थे।



Related posts

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से की मुलाकात

admin

Samachar @ 4 PM | Date 28-02-2019

admin

तीन बच्चों को कमरे में बंद करके प्रेमी को बुलाया; हत्या के बाद सुसाइड दिखाने के लिए दोनों ने शव को फंदे से लटका दिया

admin